Learn who your child is in the grip of love!

ऐसें जानें की आपका बच्चा इश्क की गिरफ्त में तो नहीं !

 Learn who your child is in the grip of love!अगर आप का बच्चा जवानी की दहलीज पर कदम रखा है तो जाहिर है कि वह फिजिकली और मेंटली उन सभी बदलावों से हो के गुजरेगा , जो लड़कियों की तरफ आकर्षित होना भी लाजमी है । और फिर प्यार भी होना भी तय है । वो आप को भले ही न बताये लेकिन उसके कुछ हरकतों को नोटिस करने पर आप को समझ आ जायेगा की कही उन पर भी इश्क का भूत तो नहीं सवार है ।

नई हॉबी

आमतौर पर यह पाया गया है कि जब टीनेजर डेट करना शुरू करते हैं तो अपने पार्टनर की हॉबीज अपनाने लगते हैं। जैसे, म्यूजिक सुनना, बुक पढ़ना, वगैरह, वगैरह। और सबसे बड़ी बात, म्यूजिक की तरफ अचानक उनका रूझान बढ़ना ही प्यार की सबसे पहली निशानी है।

खुद पर ध्यान देना

अगर आपका बच्चा अचानक ही अच्छी तरह तैयार होने लगा है। अलग-अलग तरह के परफ्यूम्स वगैरह ट्राई करने लगा है तो यह एक सिग्नल है कि उसकी लाइफ में कोई आ गया है।

अपने ऊपर ध्यान देना

पहले सुबह उठने के घंटों बाद भी उसे ब्रश करने का ख्याल नहीं आता था, और अब दिन में 2-2 बार उसके मुंह की सफाई होने लगी है, तो समझ जाइए कि ओरल हाईजीन पर इतना ध्यान किसी कारण से ही दिया जा रहा है ।

सोशलाइजिंग

इस मामले में 2 बातें हो सकती हैं। या तो आपका इंट्रोवर्ट बच्चा अब खुलने लगा है और बाहर लोगों से घुलने-मिलने लगा है, या फिर आपका एक्स्ट्रोवर्ट बच्चा अचानक ही अपनी एक अलग दुनिया में कैद हो गया है, जिसमें घुसने की इजाजत किसी को नहीं है। इन दोनों ही सूरतों में आपको समझ जाना चाहिए कि उसकी जिंदगी में इश्क की खिचड़ी पकनी शुरू हो चुकी है ।

टूटी-फूटी शायरी करना

वह इश्क कैसा जिसमें बंदा ग़ालिब या ग़ुलजार न हो जाए! अगर आपके बेटे/बेटी की किताबों में पोएट्री की किताबों ने जगह बना ली है, या फिर उसने अपनी डायरी में टूटी-फूटी शायरी करनी शुरू कर दी है, तो समझ जाइए जनाब, वह इश्क की गिरफ्त में है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *