fun of the law was to test the law parole

कानून का मजाक उड़ाने वाले को कानून की परीक्षा देने के लिए मिली पैरोल

नई दिल्ली : मॉडल जेसिका लाल की हत्या के जुर्म में उम्रकैद की सजा काट रहे मनु शर्मा को दिल्ली उच्च न्यायालय ने गुरुवार को पैरोल दे दी । उसे कानून की परीक्षा में बैठने के लिए पैरोल मिली है । न्यायाधीश आशुतोष कुमार ने मनु शर्मा को दो चरणों में पैरोल मंजूर की है । पहले चरण में वह 10 से 15 दिसंबर तक और दूसरे चरण में 20 दिसंबर से पहली जनवरी तक जेल से बाहर रहेगा ।

fun of the law was to test the law parole
fun of the law was to test the law parole

अदालत ने मनु शर्मा को 50 हजार की मुचलका राशि और इतनी ही राशि की जमानत राशि भरने का आदेश दिया है । साथ ही जेल से बाहर रहने के दौरान मामले के गवाहों से न मिलने तथा जेसिका के परिजन से न मिलने का भी आदेश दिया है ।

अन्नामलाई विश्वविद्यालय से एलएलबी कर रहे मनु शर्मा ने एक महीने की पैरोल मांगी थी । उसने कहा था कि उसकी परीक्षाएं चंडीगढ़ में 26 से 30 दिसंबर तक होनी हैं । उसने यह भी कहा था कि चेन्नई में 11 दिसंबर को वह एक निजी समारोह में शामिल होना चाहता है ।

शर्मा को उच्च न्यायालय ने मॉडल जेसिका लाल की हत्या के मामले में दिसंबर 2006 में उम्रकैद की सजा सुनाई थी । इस सजा को सर्वोच्च न्यायालय ने बरकरार रखा था ।

जेसिका की हत्या 29 अप्रैल 1999 को की गई थी । वह सोशलाइट बीना रमानी के दिल्ली के महरौली स्थित बार में वेट्रेस की भूमिका में थी, जब शराब नहीं परोसने पर मनु शर्मा ने उसे गोली मार दी थी ।

मनु शर्मा पूर्व कांग्रेस नेता विनोद शर्मा का बेटा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *