When the party was in power then there were none in Ayodhya

जब बसपा सत्ता में थी तो अयोध्या में ऐसा कुछ नहीं हुआ

नई दिल्ली : बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए विश्व हिन्दू परिषद को पत्थर एकत्र करने देने के लिए राज्य में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी की आलोचना की । मायावती ने बुधवार को संसद के बाहर कहा, “उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार है । राज्य में स्थिति को नियंत्रण में रखना सरकार की जिम्मेदारी है । जब सर्वोच्च न्यायालय में फैसला लंबित है, तो यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह कार्य को न होने दे ।”

When the party was in power then there were none in Ayodhya
When the party was in power then there were none in Ayodhya

बसपा अध्यक्ष ने कहा, “अगर अयोध्या में सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का उल्लघंन करने वाली कोई भी स्थिति उत्पन्न होती है, तो इसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी । भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ हमेशा से मंदिर का निर्माण करना चाहता था । यह कोई नई बात नहीं है । केंद्र को अपने लोगों पर लगाम लगानी चाहिए ।”

मायावती ने कहा, “जब बसपा सत्ता में थी, तो मैंने अयोध्या में ऐसा कुछ भी होने नहीं दिया, जिससे तनाव बढ़े ।”

उल्लेखनीय है कि अयोध्या में रविवार को राम सेवक पुरम में दो ट्रक पत्थर पहुंचे । राम सेवक पुरम विहिप की संपत्ति है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *