Niranjan NSG commandos killed the son of the country's rich funeral

देश के शहीद बेटे एनएसजी कमांडो निरंजन का अंतिम संस्कार संपन्न

केरल | पठानकोट वायुसेना अड्डे पर हुए हमले में आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए एनएसजी कमांडो लेफ्टिनेंट कर्नल ई. के. निरंजन का अंतिम संस्कार मंगलवार को केरल में उनके पैतृक गांव में किया गया। पलक्कड़ जिले के एलंबलशेरी गांव में सोमवार शाम उनका शव लाया गया, जहां लोग रातभर लोग उनका अंतिम दर्शन करते रहे।

Niranjan NSG commandos killed the son of the country's rich funeral
                            Niranjan NSG commandos killed the son of the country’s rich funeral

देश के लिए अपनी जान गंवाने वाले इस जवान के अंतिम दर्शन के लिए लोगों का तांता लगा रहा और तड़के सुबह भी हजारों लोग मौजूद थे।

केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने सोमवार शाम एलंबलशेरी गांव आकर दिवंगत सैनिक को श्रद्धांजलि अर्पित की।

बेहद शांत दिख रहे निरंजन के पिता सेवानृवित्त कर्मचारी शिवरंजन ने कहा, “मेरे बेटे ने देश के लिए अपनी जान दी है और मुझे उस पर गर्व है।”

उन्होंने बताया, “उसका एनएसजी में तीन महीने कार्यकाल बाकी था। उसने अपनी बेटी का दूसरा जन्मदिन धूमधाम से मनाने की योजना बनाई थी, क्योंकि पहले जन्मदिन पर वह नहीं आ पाया था। उस समय वह अमेरिका में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहा था।”

मंगलवार सुबह पारंपरिक तरीके से निरंजन का अंतिम संस्कार किया गया। इसमें उसके करीबी रिश्तेदारों से लेकर कई आध्यात्मिक गुरु शामिल हुए।

केरल सरकार की तरफ से शहीद के अंतिम संस्कार में गृहमंत्री रमेश चेन्निथला शामिल हुए। राज्य सरकार ने निरंजन की याद में प्रदेश के सभी स्कूलों में सुबह 11 बजे एक मिनट का मौन रखने का निर्देश जारी किया था।

वायुसेना की इकाइयों, थल सेना और केरल पुलिस ने दिवंगत सैनिक को औपचारिक विदाई थी।

निरंजन अपने पीछे दंत चिकित्सक पत्नी राधिका, डेढ़ साल की बच्ची विष्मय, पिता शिवरंजन, सौतेली मां और भाई शशांक को छोड़ गए हैं।

केरल सरकार ने उनके परिवार को मुआवजा देने के मुद्दे पर कैबिनेट की बैठक बुलाई है। इससे पहले केरल सरकार ने उनके परिवार के लिए 30 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *