ताजमहल और संसद भवन गुलामी की निशानी : आजम खां

रामपुर । उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खां का मानना है कि अंग्रेजों और मुगलों की हुकूमत में ताजमहल, राष्ट्रपति भवन और संसद भवन को बनाकर हुक्मरानों ने खजाने की बबार्दी की।

Taj Mahal, the symbol of slavery and Parliament : Azam Khan
                 Taj Mahal, the symbol of slavery and Parliament : Azam Khan

खास बात तो यह है कि आजम ने ताजमहल समेत दोनों भवनों को गुलामी की निशानी करार दिया है। आजम का कहना है कि देश में दासता की निशानी ताजमहल को तत्काल गिरा दिया जाना चाहिए, क्योंकि इन ऐतिहासिक इमारतों को देखकर गुलामी का अहसास होता है।

Taj Mahal, the symbol of slavery and Parliament : Azam Khan
                  Taj Mahal, the symbol of slavery and Parliament : Azam Khan

पत्रकारों से बातचीत में मंत्री खां ने कहा, “ताजमहल को गिराने में मैं सबसे आगे रहूंगा। अंग्रेजों और मुगलों की हुकूमत की छाप अभी भी आपके सामने है। जिस समय हमारे देश में लोगों के पास कुछ खाने को नहीं था, उस समय हुक्मरानों ने ताजमहल बनवाया। यह खजाने की बर्बादी थी।”

उन्होंने कहा कि सत्ता की गद्दियों पर बैठे लोग देश के खजाने का इस्तेमाल अपने हितों के लिए करते रहे, जो गलत था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *