janiyen-bhart-ratn-ke-bare-me-rochak-tathy

जानिए भारत रत्न के बारे में रोचक तथ्य !

दिल्ली । आज हम बात कर रहे है देश के सबसे बड़े सम्मान भारत रत्न किसे दिया जाता है, कब दिया जाता है, क्यों दिया जाता है …

 janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!
janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!

1. भारत रत्न की शुरूआत 2 January, 1954 को भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी ।
2. भारत रत्न उस इंसान को दिया जाता है जिसने मानवता के लिए किसी भी क्षेत्र में अभूतपूर्व और अप्रत्याशित सेवा का भाव दिखाया हो ।
3. भारत रत्न देते वक्त नस्ल, क्षेत्र, भाषा, लिंग या जाति आदि पर गौर नही किया जाता. लेकिन लिंग का भेदभाव साफ नजर आता है क्योंकि अभी तक 45 लोगों को भारत रत्न मिल चुका है जिनमें से 40 पुरूष है और 5 महिलाएँ.

 janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!
janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!

4. 26 जनवरी को भारत के राष्ट्रपति द्वारा यह सम्मान दिया जाता है ।
5. शुरूआत में ये था कि मरने के बाद किसी को भी भारत रत्न नही मिलेगा लेकिन 1955 के बाद मिलने लगा. मरणोप्रांत सबसे पहले भारत रत्न लालबहादुर शास्त्री जी को मिला था. अब तक 12 लोगो को मरने के बाद भारत रत्न मिल चुका है ।
6. भारत रत्न किसी और क्षेत्र की तुलना में *सबसे ज्यादा 21 नेताओ को मिला है*. इनमें से *15 कांग्रेस के है और उनमें से भी 3 नेहरू परिवार के है* ।

 janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!
janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!

7. प्रधानमंत्री भारत रत्न के लिए राष्ट्रपति के पास सिफारिश भेजता है लेकिन ऐसा भी हुआ है कि प्रधानमंत्री ने खुद को ही भारत रत्न दे डाला हो. क्योकिं जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गाँधी को पद पर बने रहते हुए यह अवार्ड मिला था ।
8. बात सन् 1977 की है जब जनता पार्टी की सरकार ने भारत रत्न देना बंद कर दिया था. लेकिन 1980 में कांग्रेस सरकार इसे दोबारा शुरू किया ।
9. सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु के बाद उनको सन् 1992 में भारत रत्न दिया गया था लेकिन बाद में वापिस ले लिया गय ।
10. ये कही नही लिखा कि भारत रत्न सिर्फ भारतीय नागरिक को ही दिया जाएगा. अब तक 2 विदेशियों को यह अवार्ड मिल चुका है. पहला अब्दुल गफ्फार खान को 1987 में और दूसरा अफ्रीका के जन नेता नेल्सन मंडेला को 1990 में दिया गया ।

 janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!
janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!

11. एक साल में ज्यादा से ज्यादा 3 व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है और ऐसा भी नही है कि हर साल दिया ही जाए. क्योंकि 1959, 1960, 1967, 1968, 1969, 1970, 1971, 1973, 1974, 1973, 1977, 1978, 1979, 1981, 1982, 1984, 1985, 1986, 1989, 1993, 1994, 1995 और 1996 ये ऐसे साल थे जब किसी को भी भारत रत्न से सम्मानित नही किया गया ।

 janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!
janiyen bhart ratn ke bare me rochak tathy jo shayad aap ko na pta ho !!!

12. भारत रत्न को नाम के साथ पदवी के रूप में इस्तेमाल नही कर सकते ।
13. भारत रत्न के साथ कोई रकम नही दी जाती. लेकिन राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित एक प्रमाण पत्र मिलता है और साथ में एक मेडल भी. इस मेडल की कीमत लगभग 2,57,732 रूपए है ।
14. भारत रत्न के साथ मिलने वाली सुविधाएँ जीवन भर Income Tax नही भरना पड़ता. जीवन भर भारत में एयर इंडिया की प्रथम श्रेणी की मुफ्त हवाई यात्रा और रेलवे में प्रथम श्रेणी में मुफ्त यात्रा. संसद की बैठकों और सत्र में भाग लेने की अनुमति है. कैबिनेट रैंक के बराबर की योगयता मिलती है. जरूरत पड़ने पर Z-grade की सुरक्षा दी जाती है. VVIP के बराबर का दर्जा दिया जाता है. देश के अंदर किसी भी राज्य में यात्रा के दौरान राज्य सरकार द्वारा उन्हें स्टेट गेस्ट की सुविधा दी जाती हैं. विदेश यात्रा के दौरान भारतीय दूतावास द्वारा उन्हें हर संभव सुविधा प्रदान की जाती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *